प्रकृति वंदन दिवस कार्यक्रम में गोसेवा परिवार के कार्यकर्ताओं और किसानों ने सपरिवार बढ़ चढ़ कर भाग लिया।

गोग्राम वार्ता, 29 अगस्त 2021 : आज पूरे भारत देश में पर्यावरण संरक्षण गतिविधि और HSSF के अंतर्गत प्रकृति वंदन कार्यक्रम किया गया । राजस्थान के खेजडली जिले में खेजड़ी वृक्ष को बचाने के लिए सन 1731 में श्रीमती अमृता देवी के एक आह्वान पर 363 महिलाओं और पुरुषों ने आपने प्राण बलिदान कर दिए।समाज को पेड़ बचाने की प्रेरणा दी। यही बलिदान याद करते हुए और समाज को फिरसे एक बार याद दिलाने के लिए कि पेड़ है तो जीवन है ‘ यह दिन प्रकृति वंदन दिवस के रूप में मनाया गया । गोसेवा परिवार के 7 जिलों के कार्यकर्ताओं और किसानों ने भी इस कार्यक्रम में सपरिवार बढ़ चढ़ कर भाग लिया।

  • 29th Aug, 2021