यास तूफान से प्रभावित गोवंशों के चारे की व्यवस्था का कार्य विभिन्न ग्रामों में द्रुत गति से चल रहा है।

गोग्राम वार्ता : 06  जून 2021, यास तूफान से बंगाल के समुद्री तट के बांध टूटने के कारण तटीय इलाके के गाँवों के घर पानी में डूब गए हैं। उनके गोवंश का चारा भी डूब गया है। चारा और धन के अभाव में गोपालक गोवंश को रु 400 - रु 500 में कसाई को बेचने को विवश हो रहे हैं। हमारा पूरा प्रयास है की एक भी गाय कसाई के हाथ ना जाये। गोपालक किसानों को इस संकट से बहार निकलने के लिए गोवंशों को चारा उपलब्ध कराने का अभियान जोर शोर से चल रहा है। आज चैतन्यपुर अंचल के बेगुनबाड़ी और एरियाखाली ग्राम की 460 गोमाताओं को तथा बारुईपुर जिले के कुलतुली खंड के श्याम नगर ग्राम में 150 गोमाताओं को चारे की व्यवस्था की गयी इस कार्य में सहयोग करने वाले सभी गोभक्तों का गोसेवापरिवार की तरफ से हम ह्रदय से आभार प्रकट करते हैं। आप भी चारा हेतु सहयोग कर गोवंश को कसाई के हाथों कटने से बचा सकते हैं।

  • 06th Jun, 2021