केशियारी खंड के 29 किसानों ने गो आधारित ग्राम विकास का प्रशिक्षण लिया

गोग्राम वार्ता : 18 फरवरी 2021 ,  किसानों को गोबर और गौ मूत्र की उपयोगिता सिखाने एवं जैविक पद्धति द्वारा कृषि करने के लिए प्रेरित करने हेतु नियमित रूप से किसानों का प्रशिक्षण वर्ग होता है। इन प्रशिक्षण वर्गों में गोबर और गौ मूत्र द्वारा खाद निर्माण, कीट नियंत्रक , अग्निहोत्र, गौपूजन,गोबर द्वारा धूपबत्ती दीपक का निर्माण इत्यादि सिखाया जाता है। इस कड़ी में केशियारी ब्लॉक के गगनेश्वर अंचल केशियारी प्रशिक्षण मंदिर में 5 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग संपन्न हुआ। इस प्रशिक्षण वर्ग में 29 किसानों ने भाग लिया। सभी ने प्रशिक्षण के इस कार्य को अपने कार्य क्षेत्र में निरंतर करने और अन्य लोगों की सिखाने का वचन दिया।

किसानों को गोबर और गौ मूत्र की उपयोगिता सिखाने एवं जैविक पद्धति द्वारा कृषि करने के लिए प्रेरित करने हेतु नियमित रूप से किसानों का प्रशिक्षण वर्ग होता है। इन प्रशिक्षण वर्गों में गोबर और गौ मूत्र द्वारा खाद निर्माण, कीट नियंत्रक , अग्निहोत्र, गौपूजन,गोबर द्वारा धूपबत्ती दीपक का निर्माण इत्यादि सिखाया जाता है। इस कड़ी में केशियारी ब्लॉक के गगनेश्वर मंडल के परुलिया ग्राम में 5 दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग M S K Madhymik School में संपन्न हुआ। इस प्रशिक्षण वर्ग में 40 किसानों ने भाग लिया। सभी ने प्रशिक्षण के इस कार्य को अपने कार्य क्षेत्र में निरंतर करने और अन्य लोगों की सिखाने का वचन दिया।

  • 18th Feb, 2021